27 C
Guwahati
Sunday, June 26, 2022
More

    गणतंत्र दिवस : ट्रैक्टर मार्च के लिए किसानों ने दिया अपना रूट प्लान

    दिल्ली-एनसीआर में किसान आंदोलन के  दो महीने हो चुके है. कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर किसान अड़े हुए है. वहीं सरकार कानून को 18 महीने तक स्थगित करने के लिए तैयार है, लेकिन किसान बिल को वापस लेने की मांग पर अड़े हुए है. किसानों ने 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड पर दिल्ली के रिंग रोड में विशालगणतंत्र दिवस परेडनिकालने की घोषणा की है.हालांकि दिल्ली पुलिस ने अभी तक इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. आज प्रेस कांफ्रेस कर पुलिस किसानों की ट्रैक्टर रैली पर निर्णय ले सकती है.

         लेकिन किसानों ने अपना रूट मैप दे दिया है. ये रैली सर्किल फॉर्मेट में नहीं होगी यानी किसान पूरे रिंग रोड का चक्कर नहीं लगाएंगे.रैली के लिए ट्रैक्टर 5 स्थानों से निकालेंगे और उसी दिन वापस अपने मूल स्थान पर आ जाएंगे. कुल मिलाकर ट्रैक्टर120  से 140 किलोमीटर की दूरी तय करेंगे, जिसकी स्पीड मध्यम होगी. किसानों का पहला जत्था सिंघु बॉर्डर से निकलकर औचंदी तक जाएगा. दूसरा जत्था यूपी गेट से आनंद विहार फिर डासना उसके बाद केएमपी एक्सप्रेस वे पर जाएगा.तीसरा जत्था टिकरी बॉर्डर से गेहवरा असुदा तक जाएगा, यहां से फिर केएमपी एक्सप्रेस तक जाएगा.चौथा जत्था चिल्ला से गाजीपुर और पलवल से गाजीपुर तक जाएगा.पांचवां जत्था मानसेरा से होते हुए जयसिंहपुर खेड़ा तक और उसके बाद टिकरी बॉर्डर तक जाएगा.

             किसान नेता सतनाम सिंह पन्नू ने कहा कि किसान शांतिपूर्वक रैली करना चाहते है और रैली  पूरी तरह से शांतिपूर्वक और अनुशासित तरीके से होगी. हम लोग यातायात नियमों का ध्यान रखते हुए हम धीरे- धीरे जाएंगे .रैली के साथ एंबुलेंस होगा और ये बॉर्डर के साथ रूट पर चलेगा. वही भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि 26 जनवरी को किसान परेड के दिन उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड के किसान 25 हजार टैक्टर के साथ दिल्ली की सड़कों पर उतरेंगे और प्रशासन भी इस रैली को नहीं रोक सकती है.इस ट्रैक्टर रैली में राजनीतिक पार्टियों को आने की इजाजत नहीं होगी.

    Published:

    Follow TIME8.IN on TWITTER, INSTAGRAM, FACEBOOK and on YOUTUBE to stay in the know with what’s happening in the world around you – in real time

    First published

    ट्रेंडिंग