25 C
Guwahati
Thursday, October 6, 2022
More

    Jashpur News: रसोईया के हाथों में बच्चों का भविष्य, स्कूल से टीचर नदारद

    जशपुर। जिले के फरसाबहार विकास खंड के प्राथमिक शाला सागजोर में शिक्षा की व्‍यवस्‍था बदहाल है। अब बच्‍चों का भविष्‍य रसोइया के हाथों में है। स्‍कूल में शिक्षा के नाम पर बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। दरअसल, यहां पर दो शिक्षक पदस्थ हैं जिनमें एक प्रधानअध्यापक जितेन्द्र गुप्ता और दूसरे शिक्षक शंकर राम नायक हैं। मंगलवार को ये दोनो ही शिक्षक स्कूल नहीं पहुंचे थे। ऐसे में मध्यान भोजन बनाने के साथ रसोई घर में ही वहां का रसोइया नरेश ध्रुव बच्चों को पढा रहा था और उनकी कापी चेक कर रहा था । जानकारी मिलने पर डीईओ ने कहा स्कूल संचालन में ऐसी लापरवाही नहीं चलेगी। ऐसे में रसोइया खाना बनाने के साथ साथ स्कूल के बच्चों को पढ़ाने का काम भी कर रहे हैं। प्राथमिक शाला साजगोर फरसाबहार विकासखंड से 30 किलोमीचर दूर ओडिशा बार्डर से लगा एक गांव है।

    जशपुर में ये नई बात नहीं है

    छत्तीसगढ़ के जशपुर से शिक्षा जगत की एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जिसे देखकर आप हैरान तो होंगे ही लेकिन आप ये भी सोचने को मजबूर हो जाएंगे कि आखिर इस तरह की तस्वीरें अक्सर जशपुर से ही क्यों आती हैं। ऐसा नजारा अक्सर जशपुर में देखने को मिलता है कभी शिक्षक शराब के नशे में स्कूल में पढ़ा रहे होते हैं तो कभी स्कूल में पढ़ाने आए बच्चों से स्कूल में मजदूरी कराई जा रही होती है।जशपुर की शिक्षा व्यवस्था में कोई भी सुधार नहीं हो रहा है।प्रशासन ने भी आंख मूंद ली है जब भी शिकायत होती वही जवाब की दोषियों पर सख्त कार्रवायी होगी । लेकिन सवाल ये कि अगर सख्ती होती तो इतनी बड़ी अंदेखी कैसे।

    Published:

    Follow TIME8.IN on TWITTER, INSTAGRAM, FACEBOOK and on YOUTUBE to stay in the know with what’s happening in the world around you – in real time

    First published

    ट्रेंडिंग