20 C
Guwahati
Wednesday, December 1, 2021
More

    देओरलि बाजार रोपवे सैलानियों के लिए बना आकर्षण का केंद्र

    दिल्ली: सिक्किम की राजधानी जिसे हिमालय की खिड़की के नाम से जाना जाता है, इस वक़्त गंगटोक अपने मनमोहक आकर्षण केंद्रों की वजह से देश भर के पर्यटकों की संख्या में लगातार वृद्धि कर रहा है. शहर में स्तिथ तिब्बती बौद्ध केंद्र, नेपाल और हिमाचल के भिक्षु आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं. वर्कनेशन और सहस्त्राब्दी के बीच पैन इंडिया योजना के तहत लोकप्रिय प्रवत्ति के युवा यात्री गंगटोक की ख़ूबसूरती का पता लगाने आ रहे हैं. ये जगह हाइकर्स और ट्रैकर्स के लिए अब बेस बन गया है. देओरोली बाजार रोपवे शहर का एक लोकप्रिय और रोमांचकारी पर्यटक आकर्षण का केंद्र रहा है. रोपवे के साथ साथ लोग महात्मा गाँधी मार्ग भी सैलानियों को काफी पसंद आ रहा है.


    बाजारों में भी लोग और उनके परिवारों के साथ काफी आनंद ले रहे है. जिसकी वजह से शहर के बाजारों में काफी हलचल मची हुई है. देओरोली बाजार रोपवे शहर के बीचों बीच से गुजरता है, जो की दामोदर रोपवे और इंफ़्रा लिमिटेड की मदद से लोकल्स को ट्रेवल कराया जाता है. इसे वर्ष 2003 में, सिक्किम विधान सभा के माध्यम से ताशीलिंग सचिवालय के लिए बाजार स्थान को जोड़ने के लिए बनाया गया था. रोपवे की सेवा सुबह 9 बजे शुरू होती है और शाम को 5 बजे तक चलती है. लोग इस रोपवे का इस्तेमाल करके शहर के दो हिस्सों के बीच आसानी से यात्रा कर सकते हैं. सैलानी देओराली रोपवे में सवारी करते हुए पूर्ण गंगटोक शहर के मनोरम दृश्य का आनंद भी ले सकते हैं.


    आदित्य चारमिया, मैनेजिंग डायरेक्टर दामोदर रोपवे और इंफ़्रा लिमिटेड बताते हैं, “कि इस क्विंट साम्राज्य ने सिक्किम राज्य को हमेशा के लिए उजाड़ दिया था. जब भी यात्री पैन इंडिया यात्रा कार्यक्रम की योजना बनाते हैं, तो यह हमेशा उनकी बकेट सूची में होता है. हमारा प्रयास उन्हें हमारे रोपवे सेवाओं के जीवन भर के यादगार और सुरक्षित अनुभव देने के लिए रहता है. ”

    Published:

    Follow TIME8.IN on TWITTER, INSTAGRAM, FACEBOOK and on YOUTUBE to stay in the know with what’s happening in the world around you – in real time

    First published

    ट्रेंडिंग