27 C
Guwahati
Wednesday, June 29, 2022
More

    गणतंत्र दिवस के मौके पर अयोध्या में हुआ मस्जिद का शिलान्यास, ध्वजारोहण के बाद रखी नींव

    दिल्ली (Delhi). अयोध्या में मंगलवार को गणतंत्र दिवस के मौके पर ध्वजारोहण के बाद मस्जिद का शिलान्यास किया गया. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मुस्लिम समाज को मिली 5 एकड़ जमीन पर इस मस्जिद का निर्माण होगा. यह मस्जिद अयोध्या जिले के धनीपुर गांव में बनेगी. जो कि राम मंदिर से 25 किलोमीटर की दूरी पर है.  

    जानकारी के मुताबिक सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष जुफर जुफर फारूकी व अन्य सदस्यों ने सबसे पहले पौधरोपण किया और फिर ध्वजारोहण कर शिलान्यास किया. फाउंडेशन के सचिव अतहर हुसैन ने बताया कि गणतंत्र दिवस के मौके पर पहले मस्जिद की जमीन पर ध्वजारोहण किया गया. वहीं राष्ट्रगान के बाद पांच एकड़ जमीन पर वृक्षारोपण के साथ मस्जिद का शिलान्यास किया गया है. इस मौके पर ट्रस्ट के हर एक सदस्य ने एक पौधा लगाया.

    pc= Aaj tak

    सोमवार से ही शुरू हो गई तैयारी:

    बता दें कि मस्जिद के निर्माण के लिए सोमवार को ही मिट्टी की जांच करने का काम शुरू हो गया. दोपहर बाद पहुंची गुंजन स्वायल कंपनी द्वारा निर्धारित पांच एकड़ में तीन स्थानों पर स्वायल टेस्टिंग के लिए स्थान चिह्नित किया गया. इसमें एक स्थान से मिट्टी निकाली गई है साथ ही अन्य दो स्थानों से मिट्टी निकाली जाएगी. यह काम तीन दिन तक चलेगा. इसके बाद ट्रस्ट को एफसीआरए की हरी झंडी मिलते ही मस्जिद निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा और उसे बाद यह तय हो पाएगा कि कितने दिनों में मस्जिद बनकर तैयार होगी. प्राप्त जानकारी के अनुसार बोर्ड की ओर से मस्जिद निर्माण के लिए गठित इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ने इस मस्जिद का नाम स्वतंत्रता सेनानी मौलवी अहमदुल्ला शाह के नाम पर रखने की तैयारी की है.  

    जल्द शुरू होगा निर्माण कार्य:

    सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मस्जिद के लिए मिली पांच एकड़ जमीन पर मस्जिद के अलावा पांच एकड़ भूखंड के बीचोबीच अस्पताल, पुस्तकालय, शैक्षिक और सांस्कृतिक रिसर्च सेंटर बनाने की रूप रेखा ट्रस्ट ने बनाया है. माना जा रहा है कि जल्द ही मस्जिद का निर्माण कार्य भी शुरू हो जाएगा.

    Published:

    Follow TIME8.IN on TWITTER, INSTAGRAM, FACEBOOK and on YOUTUBE to stay in the know with what’s happening in the world around you – in real time

    First published

    ट्रेंडिंग