31 C
Guwahati
Saturday, June 25, 2022
More

    ABVP ने राष्ट्रीय विज्ञान प्रौद्योगिकी और नवाचार नीति पर केंद्रीय मंत्री को दिया सुझाव

    दिल्ली: (Delhi) अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने केन्द्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा जारी किए गए राष्ट्रीय विज्ञान प्रौद्योगिकी एवं नवाचार नीति (STIP ) के मसौदे पर छात्र समुदाय में संवाद के उपरांत एक सुझाव-पत्र दिया है. इसमें इस नीति में अनुसंधान और नवाचार क्षेत्र से जुड़े छात्रों के मुद्दों को संबोधित किया गया है.  

    इस सुझाव पत्र में विभिन्न शैक्षणिक, अनुसंधान संगठनों के शोधकर्ताओं हेतु शोध के मूलभूत ढांचे की उपलब्धता हेतु उचित तंत्र विकसित करने, शोधकर्ताओं, वैज्ञानिकों के शोध पत्र, उपलब्धि के कॉपीराइट विषय को अधिक स्पष्टता देने, अपेक्षित मानदंड से कम गुणवत्ता की सामग्री प्रकाशित करने वाली पत्रिकाओं के विनियमन, भारतीय वैज्ञानिकों व शोध अध्येताओं के उच्च स्तरीय शोध कार्य के प्रकाशन व उसके प्रभावकारिता को बढ़ाने के प्रयास आदि सुझाव हैं.

    साथ ही विश्वविद्यालयों में शोध हेतु बुनियादी ढांचे के विकास हेतु बजट बढ़ाने, प्राथमिक व उच्च शिक्षा क्षेत्र में अनिवार्य रूप से नवाचार व शोध संस्कृति के विकास, शोध में रूचि रखने वाले छात्रों को उनके कैरियर के प्रारंभिक दौर से ही प्रोत्साहन, शोध संस्थान व प्रौद्योगिकी इंडस्ट्री में समन्वय, विश्वविद्यालयों में वैश्विक स्तरीय उच्च गुणवत्तायुक्त शोध संस्थानों के निर्माण, शोध संस्थानों के मध्य ज्ञान हस्तांतरण के प्रावधान आदि सुझावों को रखा गया है.

    ये भी पढ़ें: स्वतंत्र पत्रकार मनदीप पुनिया को रोहिणी कोर्ट ने दी जमानत

    इसके अलावा उद्योग व अकादमिक क्षेत्र में उद्देश्यपूर्ण संपर्क व‌ अनुसंधान कार्यक्रम विकसित करने, छात्रों शिक्षकों तथा शोध अध्येताओं के लिए 50 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी एवं अनुसंधान संस्थानों की स्थापना, शोध-वृत्ति की धनराशि व लाभांवितों की संख्या में बढ़ोतरी, एकल निगरानी खिड़की द्वारा शोध दोहराव को रोकने, अंत: विषय शोध को अनिवार्य रूप से बढ़ाने, ऊर्जा क्षेत्र में गैर प्रदूषणकारी शोध को बढ़ावा देने, सभी वर्गों व क्षेत्रों के छात्रों की शोध क्षेत्र में सहभागिता सुनिश्चित करने, नई खोजों की जानकारी के आम जनमानस में प्रसार हेतु प्रयास, शोध क्षेत्र में अन्य देशों के साथ मिलकर साझा प्रयासों, नियुक्तियों में पारदर्शिता आदि सुझाव भी केन्द्रीय मंत्री को एबीवीपी ने दिए हैं.

    ये भी पढ़ें: कानपुर: बेटी की तलाश के लिए पुलिसवालों ने बुजुर्ग मां से लिए पैसे, गाड़ी में भरवाया डीजल

    एबीवीपी की राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कहा, “देश में नवाचार तथा शोध संस्कृति के विकास के लिए महत्वपूर्ण प्रयास हो रहे हैं. समाज व विज्ञान के अन्त: संबंध को और मजबूती देकर भारत के राष्ट्र पुननिर्माण की दिशा में और शीघ्रता से कदम बढ़ाएं जा सकते हैं. केन्द्र एवं राज्य सरकारों को शिक्षा क्षेत्र में नवाचार व शोध संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए एबीवीपी निरंतर अलग-अलग माध्यमों से संबोधित कर रही है. एबीवीपी आशा करती है कि व्यापक संवाद के उपरांत प्रस्तावित विज्ञान प्रौद्योगिकी एवं नवाचार नीति के बारे में सरकार को जो सुझाव दिए गए हैं, उस पर गंभीरता से विचार करते हैं उन सुझावों को नीति में शामिल किया जाएगा.”

    Published:

    Follow TIME8.IN on TWITTER, INSTAGRAM, FACEBOOK and on YOUTUBE to stay in the know with what’s happening in the world around you – in real time

    First published

    ट्रेंडिंग